Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

ये हमारा Archieve है। यहाँ आपको केवल पुरानी खबरें मिलेंगी। नए खबरों को पढ़ने के लिए www.kositimes.com पर जाएँ।

- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

बाबा विशु राउत मेला के पहले दिन महाजाम से हलकान रहे श्रद्धालु

- Sponsored -

चौसा, मधेपुरा/ मधेपुरा के पचरासी स्थल में पूर्वोतर बिहार के सबसे चर्चित लोक देवता बाबा विशु राउत का मेला हर साल बहुत वृहद पैमाने पर लगता है। मेष सतुआ संक्रांति के मौके पर बिहार सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष चार दिवसीय राजकीय मेला लगाया जाता है। मधेपुरा,भागलपुर,पुर्णिया व खगड़िया जिले के बीच सीमा पर स्थित चौसा प्रखंड के लौआलगान के पचरासी स्थल में आज लोक देवता बाबा विशु राउत का चार दिवसीय मेले का शुभारंभ किया गया।


दुधाभिषेक के लिए अहले सुबह से ही मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा।आज गुरुवार अहले सुबह जैसे ही मंदिर का पट श्रद्धालुओं के लिए खुला तो बाबा विशु की जय के जयघोष से पूरा वातावरण गुंजायमान हो उठा।आज पहले दिन के मेले में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी।श्रद्धालुओं द्वारा बाबा विशु के समाधि स्थल पर दूधाभिषेक के लिए लाए गए दूध से लोग मंदिर परिसर में नहलाया चला गया। मंदिर के चारों और दूध की धारा बह रही थी। दूध चढ़ाने और मेला देखने के लिए आने वाले दर्शकों की भीड़ इतनी बढ़ती चली गई कि बाबा विशु मेले से करीब 6 किलोमीटर दूर पहले से ही वाहनों का महाजाम लग गया।किसी भी वाहनों को ना तो आगे और ना ही पीछे मुड़ने तक का जगह था। लोग जाम को देखते हुए धूप में बहुत परेशान दिखे। लोगों की भीड़ इतनी थी कि प्रशासन द्वारा उस पर काबू करना बड़ा ही मुश्किल प्रतीत हुआ। कड़ी धूप में सड़कों पर लगे महा जाम के कारण लोग काफी परेशान दिखे।

विज्ञापन

विज्ञापन

मेला में आने वाले लोग दिनभर जाम की वजह से हलकान रहे ।एक तरफ चिलचिलाती धुप तो दूसरी तरफ महाजाम से मेला में आने वाले श्रद्धालुओं को घोर फजीहत का सामना करना पड़ा।हालांकि प्रशासन व मेला कमिटियों के विभिन्न जगहों पर बेरिकेटिंग कर वाहनों के प्रवेश के बाबजूद भी वाहनों की भीड़ लगी रही।लोगों की भीड़ लौवालगान,खोपडिया मोड़ से ही लगी रही हैं।लोगों को गाड़ी क्या पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा था।महिलाएं, बच्चे एवं बूढ़े लोग काफी कठिनाइयों के बीच किसी तरह मन्दिर तक पहुँच सके।
मेला में नियंत्रण कक्ष


चार दिवसीय मेला में प्रशासन द्वारा पचरासी स्थल में नियंत्रण कक्ष भी खोला गया है। मेला नियंत्रण कक्ष के साथ-साथ दंडाधिकारी की नियुक्ति किया गया है। जिसमें भारी पुलिस बल एवं दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति अलग-अलग जगहों पर हुई है।नियंत्रण कक्ष 24 घण्टे कार्य करेगी।नियंत्रण कक्ष में दंडाधिकारी दीपक कुमार,आकाश कुमार,बीईओ नरेंद्र झा ,एएसआई बेरिस्टर तिवारी मौजूद दिखे।अनुमंडल पदाधिकारी राजीव रंजन कुमार सिन्हा, डीएसपी सतीश कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी रीना कुमारी,अंचल अधिकारी राकेश कुमार सिंह,थानाध्यक्ष किशोर कुमार मेला में चुस्त दुरुस्त नजर आएं।

मेला में उमड़ी भीड़ को देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौसा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ज्ञान रंजन कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य शिविर कैम्प खोला गया है।जिसमें सैकड़ों लोग इलाज कराते हुए दिखे।डॉ ज्ञान रंजन ने बताया कि यह शिविर 24 घण्टे कार्य करेगी।लोगों की जरूरत के हिसाब से सभी प्रकार की दवाइयां उपलब्ध हैं।स्वास्थ्य केम्प टीम में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ज्ञान रंजन कुमार,डॉ हसनैन,स्वास्थ्य प्रशिक्षक गोपाल सिंह,एएनएम अनिता कुमारी,निभा कुमारी,रूपम ओम,वंदना कुमारी,स्मिता कुमारी शर्मा,सुशीला कुमारी,तनुजा भारती,नवनीत कुमार,परिचारी राम बाबू पासवान स्वास्थ्य सेवा देते दिखे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...